Advertise

साहित्‍य सुगंध हिन्दी साहित्य की सेवा का मंच, है, आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर,रचनायें -मेल पते पर प्रेषित करें।
 

मिलिए नए कॉम्पलान ब्वॉय रौनक से..........

2 comments

अगर हम अतीत के झरोखे में बाल मॉडलिंग पर नज़र डालें तो सबसे पहले दो चेहरे आँखों के सामने घूमते हैं, पहला, मर्फी रेडियो बेबी का और दूसरा, फॉरैक्स बेबी का। अब इतने सालों के बाद एक और रेडियो बेबी का चेहरा आँखों के सामने हाज़िर हो जाता है वह है कॉम्पलान ब्वॉय रौनक। आप भी सोच रहे होंगे कि यह कैसी पहेली है, कैसा कंबीनेशन है रेडियो बेबी और कॉम्पलान ब्वॉय का। क्यों नहीं, एक ही चेहरा कई-कई विज्ञापनों में नज़र नहीं आता क्या ? आते हैं जनाब, बिलकुल आते हैं। लेकिन मैं यहां बात कर रही हूं नए कॉम्पलान ब्वॉय की, जो इन दिनों विज्ञापन की रौनक बढ़ा रहा है।


रौनक कॉम्पलान ब्वॉय भी है और रेडियो बेबी भी। कम्पलान ब्वॉय इन दे सेंस कि हाल ही में देश भर के बच्चों में से हेंज इंडिया प्राईवेट लिम. यानी कॉमप्लान निर्माता कंपनी ने उसे कॉम्पलान ब्वॉय के रूप में चुना है। रौनक का चुनाव पहले भी रिबॉक, लिलिपुट आदि कई कंपनियों के लिए हो चुका है और वह इन कंपनियों की पोशाकों में रैम्प वॉक कर दर्शकों का दिल लुभा चुका है। साथ ही किडजी स्कूल, टॉलीगंज में स्मार्ट ब्वॉय ऑफ स्कूल के रूप में भी रौनक ने दूसरा स्थान हासिल किया था जिसकी जज थीं बांग्ला फिल्मों की जानीमानी अभिनेत्री शताब्दी राय।


रौनक अभी साउथ प्वाइंट स्कूल में कक्षा-2 का छात्र है। स्वभाव से चंचल एवं बातें याद रखने में तेज रौनक मुरारका का बचपन बता रहा है कि यह मॉडलिंग के क्षेत्र में नाम रौशन करेगा।


रौनक के पापा रोशन मुरारका जहां एफएम रेडियो जॉकी और टीवी न्यूज रीडर हैं वहीं मम्मी भी रेडियो जॉकी है। तभी तो हमने इस कॉम्पलान ब्वॉय को रेडियो बेबी भी कहा। रेडियो पेरंटस् का प्यारा सा रेडियो बेबी।


कॉम्पालन ब्वॉय के रूप में चुने जाना अपने आप में सबसे बड़ी एक ऐसी उपलब्धि है जो कभी आज के चर्चित और सफल फ़िल्म स्टार शाहिद कपूर और आयशा टाकिया को मिली थी। कॉम्पलान गर्ल के रूप में कोयम्बटूर की तेजश्री को चुना गया है।


रौनक की इस उपलब्धि ने परिवार के साथ-साथ पूरे कोलकातावासियों को गौरवान्वित किया है। ढेर सारी शुभकामनाओं के साथ संस्कृति सरोकार परिवार की यही दुआ है कि यह उपलब्धि रौनक में नई ऊर्जा का संचार करे और वह ऐसे ही क़दम-दर-क़दम नई बुलंदियों को छूता रहे।

आमीन!

प्रस्तुति - नीलम शर्मा ' अंशु '

2 Responses so far.

  1. JHAROKHA says:

    Raunak ko hardik badhai---aur apko bhee yah jankaree ham tak pahunchane ke liye.

Leave a Reply

 
[ साहित्‍य सुगंध पर प्रकाशित रचनाओं की मौलिकता के लिए सम्‍बधित प्रेषक ही उतरदायी होगा। साहित्‍य सुगंध पर प्रक‍ाशित रचनाओं को लेखक और स्रोत का उललेख करते हुए अन्‍यत्र प्रयोग किया जा सकता है । किसी रचना पर आपत्ति हो तो सूचित करें]
stats counter
THANKS FOR YOUR VISIT
साहित्‍य सुगंध © 2011 DheTemplate.com & Main Blogger. Supported by Makeityourring Diamond Engagement Rings

[ENRICHED BY : ADHARSHILA ] [ I ♥ BLOGGER ]